Kalyan Jewellers, Sujata Chowk, Ranchi

1789/1, Ward No.III, Main Road, P P Compound Crossing
Ranchi- 834001

017-26671078

Call Now

Opens at

<All Articles

इस करवा चौथ कल्याण ज्वेलर्स के संकल्प कलेक्शन के साथ फिर से मजबूत करें अपना बंधन

करवा चौथ को साल का सबसे रोमांटिक समय कहा जा सकता है! किताबों और फ़िल्मों में खूब धूम-धाम से मनाया जाने वाला करवा चौथ वो जादुई दिन है जब विवाहित महिलाएं अपने पतियों की लंबी उम्र के लिए पूरा दिन उपवास रखती हैं और पूजा करती हैं। वैवाहिक संबंध की सुंदरता को बयान नहीं किया जा सकता, और विवाहित जोड़े के लिए हर दिन अनूठा एहसास दिलाता है।
पारंपरिक रूप से, अलग-अलग क्षेत्रों में वैवाहिक बंधन से जुड़े कई त्योहार और रीति-रिवाज़ मनाए जाते हैं। हालांकि, करवा चौथ एक ऐसा त्योहार है जिसे सालों से अलग-अलग समुदाय के लोग मनाते आ रहे हैं। ये त्योहार है प्यार और अटूट बंधन का एक प्रतीक जिसे अविवाहित जोड़े भी अपने-अपने मंगेतरों के लिए उपवास रख कर प्यार से मनाते हैं और हमेशा साथ रहने की कामना करते हैं।
करवा चौथ का त्योहार इस कारण से भी विशेष है कि इस दिन कई पति अपनी पत्नियों के स्वास्थ्य के लिए कामना करते हुए उपवास रखते हैं। इस त्योहार को सास और पत्नी व पत्नी और उनकी माँ के बीच के बंधन को मजबूती देने के लिए भी जाना जाता है। करवा चौथ वाले दिन सास अपनी बहू को सरगी देती है, एक ऐसा खाना जिसे सूरज निकलने से पहले खाया जाता है और जिसमें फल, सब्जियां और चपाती शामिल की जाती है। दूसरी ओर, पत्नी की माँ तोहफ़े भेजती है, जिसमें ज्वेलरी, कपड़े या भोजन या कोई भी अन्य चीज़ शामिल हो सकती है। इस अवसर पर खूब प्यार और अपनापन न्योछावर किया जाता है और परिवारों को एक दूसरे के करीब लाता है।
करवा चौथ वाले दिन महिलाएं सुंदर वेशभूषाएं पहनती हैं, अपने हाथों पर मेहंदी लगाती हैं और शानदार ज्वेलरी पहन कर चाँद के दिखने का इंतज़ार करती हैं। लोक कथाओं के अनुसार करवा चौथ का संबंध रानी वीरवती से है। इस कहानी में प्यार है और इंतज़ार है जिस कारण से इस रिवाज़ में प्यार और उदासी की भावना छिपी हुई है। रानी वीरवती सात स्नेहशील और प्यार करने वाले भाइयों की इकलौती बहन थी। विवाहित स्त्री के रूप में रानी ने अपना पहला करवा चौथ अपने मायके में मनाया था। उनके भाइयों ने देखा कि रानी चाँद का बेसब्री से इंतज़ार कर रही थी जिससे कि वे अपना उपवास तोड़ पाएं। रानी को भूख और प्यास से तड़पता देख उनके भाइयों को एक शरारत सूझी जिससे कि रानी अपना उपवास तोड़ दे। उन्होंने पीपल के पेड़ पर एक शीशा लटका दिया जिससे रानी को लगे कि चाँद निकल आया है और वे अपना उपवास तोड़ दें।
लेकिन जैसे ही उन्होंने ऐसा किया, खबर आई कि उनके पति यानी कि राजा की मृत्यु हो गई है। सारी रात वीरवती रोती रही। उनका दर्द और क्षति देख एक देवी प्रकट हुई जिसने उन्हें कहा कि अगर रानी अगले दिन पूरे समर्पण से उपवास रखे तो मृत्यु के देवता, यमराज को मजबूरी में उनके पति के प्राण लौटाने पड़ेंगे। रानी ने देवी की बात मानी और ऐसा ही किया जिसके बाद उनके पति जीवित हो उठे।
इस प्यारी सी कहानी के अलग-अलग संस्करण मौजूद हैं जिनमें प्यार और दैवीय सहायता का गुणगान किया जाता है। हर कहानी में आत्माओं के मिलन और मृत्यु के ऊपर विजय की बात दोहराई गई है।
हर अवसर को ख़ास बनाने के लिए तीन स्टाइल इस प्रकार से हैं। सुबह की सरगी से शुरू करते हुए पानी साथ में रखने और अंत में उस पल का इंतज़ार करने तक जब चांद आसमान में निकल कर आता है। हर अवसर के लिए आप दिखनी चाहिए बेहतरीन।
सुबह के लिए स्टाइल
किसी भी करवा चौथ का मुख्य आकर्षण ज्वेलरी होती है। ये दिन सादी या कम ज्वेलरी पहनने का नहीं होता है। सुबह के समय पाजेब या पायल को पहना जा सकता है, जिसे कि रोमांटिक और शरारतपूर्ण ज्वेलरी माना जाता है और जिसे पैरों में पहनते हैं। पाजेब की आवाज़ सभी का ध्यान आपकी ओर आकर्षित करेगी और वो देखेंगे कि आप कितनी सुंदर दिखती हैं। इस दिन रत्न जड़ित सोने की या कुंदन की पाजेब को पहना जा सकता है। इसके साथ पेंडेंट वाला सोने का नेकलेस और मोतियों और नीलम वाली कानों की बालियां पहनी जा सकती हैं जो कि आपके गोरे रंग के साथ खूब जंचेगी।
इस जुगलबंदी की अपनी अलग शान है। आमतौर पर ऐसे समय पर हल्के रंग वाला सलवार सूट या साधारण सा लहंगा पहनना ही सबसे बढ़िया होता है। नीले, पीले या गुलाबी रंग का बढ़िया सिला हुआ और फिटिंग वाला सलवार सूट साथ में जूड़ा या टॉप नॉट हेयरस्टाइल आपकी सुंदरता को चार-चांद लगाएगा। अंत में, अपने स्टाइल को पूरा करने के लिए आरामदायक और फ़ैशनेबल चप्पल/सैंडल पहनी जा सकती है।
इस स्टाइल के साथ आप चूड़ा भी पहन सकती हैं, जो कि रंग-बिरंगी पर आमतौर पर लाल और सफ़ेद रंग की चूड़ियां होती हैं और जिनकी खनक आपको नई-नवेली दुल्हन होने का एहसास दिलाती रहेगी। ऐसा करने के बजाय अगर आप आधुनिक और पारंपरिक स्टाइल को अपनाना चाहती हैं, तो हीरों से जड़ित चूड़ियां और साथ ही हीरे के झुमके पहनें और इसके साथ न्यूड मेकअप करें।
शाम के लिए स्टाइल
यही वो समय होता है जब आप अपने शादी का जोड़ा पहन कर सबसे सुंदर दिखना चाहती हैं; इस अवसर पर आप मीनाकारी या पारंपरिक रूप से हाथों से बनाई गई ज्वेलरी पहनें। माणिक और मोतियों वाले हसली नेकलेस के साथ लटकन झुमके पहनें। लाल और सुनहरे रंग वाले शानदार लहंगे या साड़ी के साथ जड़ाऊ या शैंपेन स्टोन नेकलेस की जुगलबंदी अपना कमाल दिखाएगी और आपके स्टाइल को निखारेगी।
अगर आप छत पर अपने दोस्तों और परिवार के साथ करवा चौथ मनाने की सोच रही हैं, तो हमारा सुझाव है कि आप टॉप नॉट हेयरस्टाइल चुनें। स्लीवलेस या स्ट्रैप लगी चोली के साथ जरदोज़ी वर्क वाली साड़ी या घाघरा पहनें। इसके साथ ही झूमर स्टाइल वाली हीरे की कानों की बालियां, पतला सा नेकपीस, छह से आठ चूड़ियां और बालों में फूल आपके स्टाइल को निखार देंगे।
करवा चौथ के आगमन के साथ ही सर्दी के मौसम की शुरुआत हो जाती है और यही कारण है कि आपको भारी ज्वेलरी पहनने से कतराने की ज़रूरत नहीं है। हालांकि, अगर आप किसी एक ज्वेलरी को आकर्षण का केंद्र बनाना चाहती हैं, तो कल्याण ज्वेलर्स की ओर से संकल्प कलेक्शन का मांग टीका एक अच्छा विकल्प रहेगा। हर पीस कुछ बयान करता है। हर पीस पर किया गया बारीक काम, बेहतरीन डिज़ाइन और रत्नों का चयन आपको उस सुंदर रानी जैसा एहसास दिलाएगा जिसने करोरा से शुरू करते हुए हर दिन 365 दिन एक सुई बाहर निकालते हुए अपने पति को जीवित किया और इस सुंदर परंपरा की शुरुआत की जिसे आज तक धूम-धाम से मनाया जाता है।
शिकारपुरी नथ ख़रीदें, जो कि नाक में पहने जाने वाली बड़ी सी बाली होती है और जिसके साथ नथ की चेन पर एक छोटा सा पेंडेंट लगा हुआ होता है। शिकारी नथ दिखने में सुंदर और नाज़ुक होती है और अन्य किसी भी ज्वेलरी से ज़्यादा आकर्षक दिखाई देती है। हालांकि इसका लौंग छोटा सा गुलमेख या नोज़ पिन होता है और अगर आप बहुत तड़क-भड़क नहीं चाहती हैं, तो इसे आज़माया जाना चाहिए।
इस स्टाइल या फिर किसी भी स्टाइल के साथ चोकर सबसे अच्छा लगता है, क्योंकि ये बहुत ही शानदार ज्वेलरी होती है। जैसे कि, अपनी उभरी हुई हंसली पर रानी हार सेट के साथ चोकर पर गौर करें। हालांकि, अगर आप थोड़ा और तड़क-भड़क से नहीं घबराती हैं, तो U-आकार वाला सतलड़ा नेकलेस पहन कर देखें। ज्वेलरी की ये जुगलबंदी आपको राजसी और आलीशान बना सकती है।
चांद देखने के लिए स्टाइल
कुछ तड़क-भड़क पहनें। ऐसे अवसर पर लहंगा सबसे बढ़िया रहता है। हमारा सुझाव है कि आप अपना पसंदीदा और चटकीले रंग वाला लहंगा पहनें। जहां तक मेकअप की बात है, अपनी आंखों पर ज़्यादा ध्यान देते हुए उन्हें बड़ा और आकर्षित बनाएं या उन्हें गहरे रंग का करें या फिर कट-क्रीज़ भी आज़माया जा सकता है। साथ में लाल या मूंगा रंग की लिपस्टिक खूब सारी ग्लॉस के साथ लगाएं।
जहां तक बात ज्वेलरी की है, हमारा सुझाव है कि आप कल्याण ज्वेलर्स की ओर से संकल्प कलेक्शन की बालियां पहनें। ये सुंदर बालियां आमतौर पर गोल या अर्ध-चंद्राकार होती हैं और रत्नों से जड़ित होती हैं। आप इसके साथ अंगूठी पहन सकती हैं, जैसे कि सगाई की अंगूठी। अपने पहनावे को और शानदार बनाने के लिए आप उजुरी मुद्रा गोल्ड नेकलेस पहन सकती हैं। चूड़ियों, मंगलसूत्र, बिंदी, शादी की अंगूठी और सॉलिटेयर गुलमेख के बिना कोई भी विवाहित स्त्री अधूरी लगती है।
संकल्प कलेक्शन की हर ज्वेलरी आज की हर उस नारी को पसंद आएगी जो अपने पति के लिए करवा चौथ का उपवास रखती है। यह ज्वेलरी कलेक्शन परंपरा, मर्जी से चुनने के अधिकार और भारतीय मूल्यों के प्रति सम्मान का प्रतीक है। कहना ज़रूरी नहीं कि तोहफे में हाथ से बनी ज्वेलरी या सॉलिटेयर अंगूठी देकर उन महिलाओं के लिए इस रात को ख़ास बनाया जा सकता है जो अपने पतियों के लिए या उनके साथ उपवास रखती हैं। आप भी ऐसा ही कोई तोहफा अपनी पत्नी को दे सकते हैं। चांद देखने के बाद जैसे ही वो आपको देखें, अपना तोहफा सामने कर दें। दोस्तों और परिवार के बीच, संगीत और खाने की चहल-पहल में, बिना एक दूसरे को कुछ कहे, इशारों में ही ये पल हमेशा के लिए यादगार बन जाएगा।

Can we help you?